मम्मी की चुट का दर्द

” क्या हुआ “ “फरश पार सबूनवाला पाण था था, कहते हैं कमवली ने सुरक्षित नाहिन कया, मैने दिखे नहीं और जीर समलैंगिक” “चट टू […]

Continue reading »