कुंवारी कन्या के साथ सेक्स

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम वैभव है और में गाज़ियाबाद से हूँ. में 23 साल का लड़का हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है और में एक एम.एन.सी कंपनी में सेल्स ऑफिसर की जॉब करता हूँ. तो अब में आपका समय ख़राब ना करते हुए सीधा स्टोरी पर आता हूँ. ये स्टोरी मेरी फ़ेसबुक फ्रेंड की है. उसका नाम कनिष्का है और वो सहारनपुर से है. उसकी उम्र 19 साल, हाईट 5 फुट 5 इंच, वो थोड़ी मोटी, लेकिन दिखने में सुंदर है और उसके बूब्स का साईज लगभग 40 है. वो पिछले 6 महीने से मेरी दोस्त है और हम चेटिंग से बहुत बात करते है और मैंने उसके बारे में कभी कुछ गलत नहीं सोचा था, लेकिन वो अभी-अभी जवान हुई थी तो उस पर जवानी का नशा चढ़ा था और हम सिर्फ फ़ेसबुक फ्रेंड है.

एक बार में किसी काम की वजह से उससे कुछ दिनों तक चैट नहीं कर पाया तो वो गुस्सा करने लगी. फिर मैंने उसे समझाया कि में व्यस्त था इसलिए बात नहीं कर सका तो उसने मुझसे मेरा फोन नम्बर मांगा. मैंने उसको नंबर दे दिया. उसके बाद वो मुझे फ़ोन करने लगी और हमारी फोन पर भी बातें होने लगी, फिर कुछ टाईम नॉर्मल बात होने के बाद उसने मुझे प्रपोज कर दिया. मैंने भी स्वीकार कर लिया. फिर हम फोन पर घंटो बातें करते थे. फिर कुछ टाईम के बाद वो मुझे डबल मीनिंग मैसेज भेजने लगी और इस तरह हम फोन पर सेक्स की बातें करने लगे.

फिर एक बार मैंने उससे मिलने को कहा तो में सहारनपुर चला गया, फिर हम मिले और हमने मूवी देखने का प्लान बनाया. फिर मूवी में जैसे ही रोमांटिक सीन आया तो मैंने धीरे से उसका हाथ पकड़ा और सहलाने लगा, जब उसने कुछ नहीं कहा तो मैंने अपना हाथ उसके बूब्स पर रख दिया, क्या फीलिंग थी यार? उसके मस्त मोटे-मोटे बूब्स थे.

फिर मैंने धीरे-धीरे उसके बूब्स दबाना शुरू कर दिया, जिससे वो गर्म होने लगी और सिसकियां लेने लगी उम्म्म्म हहह्ह्ह्ह. फिर में अपना हाथ उसकी टी-शर्ट में डालकर उसके बूब्स दबा रहा था. फिर मैंने अपने होंठ उसके कांपते हुए होंठो पर रख दिए, उसके क्या रसीले होंठ थे? फिर मैंने उसका हाथ पकड़कर अपने लंड पर रख दिया. अब मेरा लंड पेंट को फाड़कर बाहर निकालने की कोशिश कर रहा था. फिर मूवी ख़त्म होने के बाद मैंने उसे एक किस किया और वापस आ गया, लेकिन उसकी प्यास भड़क चुकी थी और वो उसे शांत करना चाहती थी.

फिर से हमारा फोन सेक्स शुरू हो गया. अब में उसे चोदने के लिए मनाने की कोशिश करने लगा, लेकिन उसे चोदने की कहीं पर भी जगह नहीं थी, क्योंकि वो यहाँ नहीं आ सकती थी और उसकी फेमिली वालों की वजह से में उसके घर नहीं जा सकता था.

फिर एक दिन मेरी ऊपर वाले ने सुन ली और उसके घरवालों को एक शादी में जाना पड़ा. वो अपनी परीक्षा की वजह से नहीं जा सकी थी. जैसे ही उसने मुझे बताया तो मैंने उसके घर जाने का प्लान बना लिया. उसने भी हाँ कह दिया क्योंकि वो भी मुझसे चुदना चाहती थी.

फिर में शाम को 7 बजे उसके घर पहुँच गया और रास्ते से मैंने आते हुए एक वोड्का की बोतल ले ली. फिर में जैसे ही उसके घर में अन्दर गया तो मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया और किस करने लगा. फिर 10 मिनट तक किस करने के बाद मैंने उसे छोड़ा तो वो हांफ रही थी. फिर हम अलग हुए और फिर मैंने उसे ग्लास और पानी लाने को कहा तो वो लेकर आ गयी. अब मैंने जैसे ही बोतल खोली तो वो कहने लगी कि मैंने कभी नहीं पी है में नहीं पीउंगी. मैंने उसे बड़ी मुश्किल से समझाया तो वो मान गयी.

अब हमने पेग पीना शुरू कर दिया और 2 पेग लेने के बाद उसे काफ़ी नशा हो गया था. मैंने अपना एक पेग और लेकर बोतल बंद कर दी. अब वो पूरे नशे में थी. मैंने म्यूज़िक चला दिया और उसे मेरे साथ डांस करने के लिए बोला तो नशे में उससे डांस भी नहीं हो रहा था. वो मेरी बाहों में झूलने लगी.

अब में भी उसकी कमर से हाथ फैरता हुआ उसकी मस्त गोल-गोल गांड पर हाथ रखकर धीरे-धीरे दबा रहा था. अब उसे नशे के साथ साथ मस्ती भी चढ़ने लगी थी. फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और रज़ाई ओढ़ ली. अब मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया, कभी कान पर, गर्दन पर, और फिर धीरे से स्मूच करने लगा. फिर में अपने हाथ से उसके बूब्स दबाने लगा और फिर में धीरे-धीरे अपना हाथ उसकी टी-शर्ट में अंदर डालकर उसके बूब्स दबाने लगा. अब वो मस्त हो कर अपनी आँखे बंद करके, ह्म्‍म्म्मम आआआ कर रही थी.

फिर मैंने उसकी टी-शर्ट को निकाल दिया ओह्ह्ह माई गॉड क्या बूब्स थे उसके मोटे राउंड शेप में? और बीच में पिंक निपल थे. में उन्हें देखकर पागल हो गया और अपने मुँह में भरकर चूसने लगा. अब वो मस्त हुए जा रही थी और अब में एक हाथ से उसके एक बूब्स को दबा रहा था और दूसरे बूब्स को मुँह में लेकर चूस रहा था. फिर मैंने अपना हाथ उसके पजामे में डाल दिया और उसकी चूत पर रख दिया. उसकी चूत पूरी भीग चुकी थी और पजामा टाईट होने की वजह से मेरा हाथ उसकी चूत पर सही से नहीं था. मैंने उससे पजामा उतारने को कहा तो उसने पजामा और पेंटी एक साथ उतार दिए. अब उसकी चूत मेरे सामने थी, क्या मस्त चूत थी? फूली हुई और उसके दोनों किनारे आपस में ऐसे चिपके हुए थे जैसे कभी अलग नहीं होंगे.

अब में उसकी चूत को धीरे-धीरे सहलाने लगा तो वो मचल उठी. फिर मैंने चूत के होंठ खोलकर देखा तो में हैरान हो गया, वो एकदम टाईट और लाल रंग की थी. फिर मैंने उससे पूछा कि तुमने इससे पहले सेक्स किया है? तो उसने मना कर दिया, दोस्तों वो बिल्कुल वर्जिन थी. ये सुनकर में बड़ा खुश हुआ कि बड़े दिनों के बाद सील तोड़ने को मिल रही है. अब मुझसे और नहीं रहा जा रहा था.

फिर मैंने अपने कपड़े निकाल दिए और उसका हाथ अपने खड़े लंड पर रख दिया और झुककर उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया जैसे ही मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ लगाई, तो वो तड़प उठी और मेरा लंड कसकर पकड़कर हिलाने लगी. अब में उसकी चूत चाट रहा था और वो मेरे लंड को सहला रही थी. करीब 5 मिनट तक उसकी चूत चाटने के बाद वो कहने लगी कि वैभव और तेज और तेज और मेरे सर को अपने हाथों से पकड़कर चूत में दबाते हुई जोर से चिल्लाई, आआआआआआअहह बस बस, अब, वो झड़ चुकी थी और में उसका सारा नमकीन पानी पी गया.
KamaCharitra, chudai with photo, hindi sexi storiy, hindi sexy syory, hinde sex storiy, hindi stories sexy, sexy story on hindi, sexy hindi image,
KamaCharitra, chudai with photo, hindi sexi storiy, hindi sexy syory, hinde sex storiy, hindi stories sexy, sexy story on hindi, sexy hindi image, 

अब मैंने उससे अपना लंड चूसने को कहा तो वो मना करने लगी. फिर मैंने उससे कहा कि मैंने भी तो किया है और सब ऐसे ही सेक्स करते है तो वो मान गयी. फिर उसने धीरे से मेरे लंड पर जीभ फेरी तो में सातवें आसमान में उड़ने लगा. अब मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था.

फिर वो मेरे लंड को मुँह में डालकर चूसने लगी और अब मेरे मुँह से सिसकारी निकलने लगी आआआ हुउऊम्म्म्म ओह, फिर जब में झड़ने वाला था तो में उसके सिर को पकड़कर धक्के लगाने लगा और उसके मुँह में ही झड़ गया. अब में फिर से उसे गर्म करने लगा. उसके बूब्स दबाने और चूसने लगा. अब में एक हाथ से उसकी चूत सहला रहा था और अब में अपनी एक उंगली उसकी चूत में डालने लगा तो उसे दर्द होने लगा और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. फिर में जबरदस्ती अपनी उंगली अंदर डालकर अंदर बाहर करने लगा तो वो बहुत गर्म हो गयी थी और मेरा लंड भी फिर से खड़ा हो गया था.


अब में उसकी टांगो के बीच में आ गया और उसकी टांगे ऊपर करके जैसे ही लंड चूत पर रखा तो वो मना करने लगी और कहने लगी कि जब उंगली से उसे इतना दर्द हुआ है फिर ये तो इतना मोटा है, बहुत दर्द होगा. फिर मैंने उसे समझाया कि शुरू-शुरू में थोड़ा सा दर्द होगा फिर मज़ा ही मज़ा है मेरी जान, तो वो मान गयी, लेकिन वो फिर भी डर रही थी. अब मैंने पोज़िशन बनाकर लंड को चूत पर रखकर जैसे ही धक्का मारा तो मेरा लंड फिसल गया.

फिर मैंने उसके नीचे एक तकिया लगाया और फिर से लंड को चूत पर रखकर धक्का मारा तो लंड उसकी चूत में घुस गया. अब तो वो चिल्लाने लगी, लेकिन उसकी आवाज सुनने वाला कोई नहीं था. अब वो मुझे धक्का देकर हटाने लगी और कहने लगी कि निकालो इसे, तुमने मेरी चूत फाड़ दी. अब में उसे किस करने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा, तब वो नॉर्मल हुई.

इसके बाद मैंने अपने होंठ उसके होंठ पर रखे और एक जोरदार शॉट मारा तो मेरा लंड उसकी सील तोड़ता हुआ उसकी चूत में अंदर तक घुस गया और वो इतना ज़ोर से चिल्लाई कि पड़ोसी भी उसकी आवाज सुन लेते, लेकिन मेरे मुँह से उसका मुँह बंद होने के बाद भी उसकी बड़ी तेज आवाज़ निकली और उसकी आँखो में आंसू आने लगे और वो रोने लगी और मुझे मारने लगी. अब मैंने उसके हाथ पकड़ लिए तो उसका मुँह आज़ाद हो गया और वो ज़ोर से चिल्लाई कि छोड़ दो मुझे. निकालो इसे मुझे नहीं करना है प्लीज मुझे बड़ा दर्द हो रहा है आई मम्मी और रोने लगी. में उसे किस करने लगा और कहा कि 2 मिनट रुक जाओ हिलना मत नहीं तो दर्द होगा.

फिर में 2 मिनट तक ऐसे ही उसके बूब्स दबाता रहा और उसे किस करता रहा. फिर वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने धक्के लगाने शुरू किए तो अब उसे भी दर्द हो रहा था. फिर मैंने धीरे-धीरे करना स्टार्ट कर दिया, लेकिन मेरा लंड बुरी तरह से उसकी चूत में जकड़ रखा था तो धीरे-धीरे धक्के लगाने मुश्किल हो रहे थे. अब वो थोड़ी नॉर्मल हो गयी तो मैंने अपने धक्को की स्पीड तेज कर दी अब उसे भी मज़े आने लगे और वो अपने मुँह से आआहहह हूम्म्म ओह आईईसस्स्स ह्म्‍म्ममममम्म करने लगी.

फिर 10 मिनट तक धक्के लगाने के बाद अचानक उसने मुझे अपनी बाहों में कस लिया और वो झड़ गयी. फिर में नीचे लेट गया और उसे अपने ऊपर करके चूत में लंड डालकर उसे चोदने लगा. दोस्तों इस पोज़िशन में मेरी स्पीड काफ़ी तेज होती है और ये मेरी सबसे पसंदीदा पोज़िशन है. फिर 10 मिनट तक पूरी स्पीड से चोदने के बाद वो झड़ गयी और मेरे ऊपर गिर गयी. अब वो मुझसे बस बस कहने लगी. तो मैंने कहा कि मेरा नहीं हुआ तो वो बोली कि मेरी जान लोगे क्या? फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और फिर पीछे से उसकी चूत में लंड डालकर चोदने लगा. अब वो अया आह करने लगी. फिर थोड़ी देर में मेरा निकलने वाला था तो मैंने पूछा कि कहा निकालूं तो उसने कहा कि अन्दर ही निकाल दो. मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और फिर हम दोनों एक साथ झड़ गये और में अपना सारा माल उसकी चूत में डालकर उसके ऊपर ही लेट गया और फिर हम सो गये.

मुझे सुबह उसके घर से निकलना था. फिर सुबह जब मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि वो अपनी गांड मेरी तरफ करके सोई थी. ये देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और में उसकी गांड सहलाने लगा तो उसकी आँख खुल गयी तो मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया. फिर मैंने उससे कहा कि में तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ तो वो मना करने लगी.

फिर मेरे काफ़ी मनाने के बाद भी वो नहीं मानी तो मैंने कहा कि अब इस खड़े हुए लंड का तो कुछ करो. तो उसने कहा ठीक है और उसने मुझे लेटाकर खुद मेरे ऊपर आ गयी और चूत मेरे लंड पर रखकर कूदने लगी. फिर इस राउंड के बाद में नहाया और वापस गाज़ियाबाद आ गया. इसके बाद उसकी शादी हो गयी और उसने मुझसे कहा कि तुम मुझे भूल जाओ. अब हम कभी नहीं मिल सकते, लेकिन वो हसीन रात मुझे आज भी याद है.

READ  Bahan ki gaand ne deewana banaya - बहन की गांड ने दीवाना बनाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *